top of page

पन्ना : राशनकार्ड और वृद्धा पेंशन से वंचित आदिवासी परिवार

पन्ना जिला, ब्लॉक अजयगढ़ तहसील, ग्राम पंचायत सिनहाई, सिमरा खुर्द गाँव की आदिवासी बस्ती में किसी भी प्रकार का विकास नहीं हुआ है। यूँ तो सरकार ने मदद के लिए वृद्धा पेंशन और विधवा पेंशन योजनाएं चला रखी हैं। लेकिन इस गांव में 70 साल की बुज़ुर्ग महिलाओं तक की वृद्धा पेंशन नहीं लगी है। गांव वालों का आरोप है कि वह लोग कई बार सेक्रेटरी के पास गए लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। गांव में सरपंच और सचिव इसलिए नियुक्त किए जाते हैं ताकि वह गांव वालों की समस्या को दूर कर सकें। लेकिन यहां ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिल रहा है।

गाँव के सरपंच का कहना है कि जिन लोगों के बीपीएल राशन कार्ड नहीं है उनकी वृद्धा पेंशन नहीं लग रही है। उन्होंने यह भी कहा कि लोग अपने बीपीएल राशन कार्ड बनवा लें उसके बाद लोगों की वृद्धा पेंशन लग जाएगी। विधवा पेंशन को लेकर सरपंच कहना है कि लोगों के सारे कागज़ लेकर कागज़ी कार्यवाही पूरी करवाई जायेगी।

लेकिन हम आपको बता दें एक ओर शासन आदिवासी लोगों को सारी योजनाओं का लाभ दिलाने का वादा करती है। लेकिन अगर देखा जाए तो गरीब लोगों के न तो बीपीएल राशन कार्ड बने हैं और न ही वृद्ध लोगों की पेंशन लगी है। आमतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में देखा जाता है कि जिन्हें योजना की अति आवश्यकता होती है वही लोग योजना से वंचित रह जाते हैं। जिन लोगों के पास पर्याप्त साधन है उन लोगों को वृद्धा पेंशन मिल रही है। योजनाओं के लाभ दिलाए जा रहे हैं। आखिर कब तक ग्रामीणों एवं गरीब लोगों से उनके हिस्से के लाभ को छीना जाता रहेगा?


नोट:- यह लेख ख़बर लहरिया की अनुमति के साथ पुनर्प्रकाशित किया गया है।

Comments


bottom of page